Kumbh 2019 will be different from earlier kumbhs in many ways

National

क्यों रहेगा कुम्भ 2019 सबसे अलग- Why this Kumbh will be different

“सत्ता का खेल तो चलता रहेगा, सरकारें आएंगी जाएँगी , पार्टिया बनेंगी बिगड़ेंगी ,

मगर ये देश रहना चाहिए, इस देश का लोकतंत्र अमर रहना चाहिए।।”

अटल जी के इन शब्दों को हम गंगा मैया से भी जोड़ सकते है – सत्ता का खेल तो चलता रहेगा लेकिन गंगा मैया अविरल और निर्मल बहती रहे।

2014 के लोक सभा चुनाव में बीजेपी का एक मुद्दा गंगा की सफाई भी था। इसपर अथाह पैसा भी खर्च हुआ है।  लेकिन आज अगर देखे तो कितना अंतर आया है। पेप्सिको का पहला कमर्शियल कन्साइनमेंट हलदिआ से वाराणसी इसी साल आया। राष्ट्रीय जलमार्ग 1 पर क्रूज भी शुरू हुआ इसी साल। खैर ये सब जाने दीजिये यहाँ हम कुम्भ की ही बात करते है। 

 कुम्भ 2019 की तैयारी ज़ोरो शोरों से चल रही है।  इसबार कुम्भ में 70 देशों के प्रतिनिधी भी आ रहे है।  कुम्भ की अच्छी ब्रांडिंग की गयी है। क्यों रहेगा ये कुम्भ हर बार से अलग। 

साफ़ और स्वच्छ संगम

View of sangam

मुझे यहाँ प्रयागराज में रहते हुए लगभग 20 वर्ष हुए है।  मैंने अपने जीवन काल इतना साफ़ और स्वच्छ पानी नहीं देखा संगम में।  हमलोग हमेशा प्रशासन को जिम्मेदार बता कर अपना पलड़ा झाड़ लेते हैं। लेकिन इसबार प्रशासन ने सफाई के पुख्ता इंतेज़ाम किये है।  अगर इसके बावजूद अगर कही गन्दगी होती है तो  इसके  लिए सरकार नहीं हम जिम्मेदार होंगे।

Paint My City campaign

Sadhu surya devta ko pranam karte hue

पूरे शहर की दीवारों को कुम्भ के लिए सुन्दर सुन्दर तस्वीरों से सजाया गया है। कहीं साधु अर्घ्य देते हुए ,कही समुद्र मंथन का दृश्य तो कही साधु कैमरे से फोटो खींचते हुए।

शायद ही किसी ने सोचा होगा की सिर्फ पेंट करने से ये शहर इतना सूंदर हो जायेगा।

250000 से ज्यादा पोर्टेबल टॉयलेट – To make kumbh Open Defecation Free

कुम्भ में शौचालय को लेकर हर बार तयारी की जाती थी। शौचालयों में गन्दगी होने के कारण और लोगो की संख्या की अपेक्षा शौचालय काम होने के कारण लोग खुले में ही जाना पसंद करते थे।

इसबार कुम्भ में शौचालयों पर विशेष ध्यान दिया गया है।  सिर्फ काम चलाऊ शौचालय की जगह पोर्टेबल टॉयलेट लाये गए है।

इनमे महिलाओं के लिए गुलाबी रंग के टॉयलेट है

शहर की हर बड़ी सड़क और चौराहे का नवीकरण

2013 में लगे महाकुम्भ में प्रयागराज में बैंक रोड चौराहा ही था जिसपे अच्छे से काम हुआ था।  चौराहे पे फौवारे भी लगाए गए थे तो सूंदर लाइटिंग के साथ शाम को चलते भी थे।  पुरे प्रयागराज की जनता बहुत खुश थी। अखिलेश यादव जी की नवनिर्मित सरकार के काम को सबने सराहा था।

2019 में लग रहे अर्ध कुम्भ में देखा जाए तो शहर के हर बड़े चौराहे का नवीकरण लगभग पूर्ण हो गया है।  तेलियरगंज में MNNIT के सामने बने इस तिराहे को देखकर लोग  अचंभित है।  तेलियरगंज में गोविंदपुर रोड चौराहा , बालसन चौराहा, मनमोहन पार्क चौराहा, राजपुर चौराहा , महाराणा प्रताप चौराहा और बहुत  सरे चौराहों की तस्वीर बदल गयी है।

teliarganj chauraha

कुम्भ में चलेंगी मुफ्त सिटी बसें

योगी सरकार ने बहुत पहले ही ये ऐलान कर दिया है की प्रयागराज में 500 सिटी बसें मुफ्त में चलेंगी।

एक महीने के लिए टोल माफ़

कुम्भ के समय टोल रहेगा माफ़।  भीड़ को नियन्त्रिक करने के लिए और लोगो की सहूलियत के लिए कुम्भ के समय टोल भी रहेंगे माफ़।

कुंभ में ‘बेड टू बेड’ एयर एम्बुलेन्स सुविधा

कुम्भ में स्वास्थ्य सेवाएं भी हाईटेक होंगी। आपात स्तिथि में गंभीर रोग से पीड़ित मरीज़ों को एयर एंबुलेंस की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। ‘बेड टू बेड’ अनुबंध के तहत चयनित कंपनी मरीज़ों  को कुंभ मेला क्षेत्र से लेकर लाइफ सपोर्ट के साथ दिल्ली या मुम्बई के हायर सेन्टर तक पहुंचायेगी। कंपनी को एयर एंबुलेंस मेला अवधि में बम्हरौली एयरपोर्ट पर तैनात रखनी होगी। आपात स्थिति में उड़ान भरने के लिए कंपनी एयरपोर्ट ऑथिरिटी से खुद अनुमति लेगी।

गूगल मैप बताएगा रास्ता

कुंभ क्षेत्र का पूरा नक्शा गूगल पर उपलब्ध होगा जो श्रद्घालुओं के साथ-साथ कुंभ क्षेत्र में ड्यूटी पर लगे कर्मियों के लिए भी काफी उपयोगी होगा। श्रद्घालुओं को घाट से लेकर विश्राम स्थल और पार्किंग स्थल के साथ जिस क्षेत्र में वह हैं वहां का थाना कौन सा है, यह जानकारी भी उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए आईजी प्रयागराज को जिम्मेदारी दी गई है।

पार्किंग का रास्ता भी बताएगा गूगल

कुम्भ कैसे रहेगा ये देखने के लिए तो आप सबको संगम आना ही पड़ेगा

ये तैयारियां कुम्भ तक पूरी होती है या नहीं ये तो जल्दी ही पता चल जायेगा। लेकिन हमारी जिम्मेदारियां भी बढ़ गयी है।  शहर को सूंदर बनाये रखने के लिए हमे सबको जागरूक करना होगा। आप सभी से मेरा अनुरोध है की न कूड़ा फैलाये न ही फ़ैलाने दें किसी को।  शहर और मेला क्षेत्र को साफ और स्वच्छ बनाये रखें।

हम सलाम करते है उन सभी लोगों को जो दिन रात मेनहत कर रहें है शहर को सुन्दर बनाने में

Kumbh 2019

5 thoughts on “Kumbh 2019 will be different from earlier kumbhs in many ways

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *